You are currently viewing ऑनलाइन जॉब फ्रॉड क्या है और इससे कैसे बचें?
ऑनलाइन जॉब फ्रॉड क्या है और इससे कैसे बचें?

ऑनलाइन जॉब फ्रॉड क्या है और इससे कैसे बचें?

एक जमाने में नौकरी ढूंढने का केवल एक सोच हुआ करता था न्यूज़पेपर, कुछ साल पहले तक न्यूज़ पेपर में ऐड के माध्यम से नौकरियां दी जाती थी।

न्यूज़ पेपर्स में बाकायदा नौकरियों के लिए अलग से सेक्शन होते थे। लेकिन अब इंटरनेट के जमाने में जब सबकुछ ऑनलाइन शिफ्ट हो रहा है तो नौकरी पाने का भी एक बड़ा जरिया बन चुका है इंटरनेट।

खासकर कोरोना काल के बाद जहां जॉब में एक नया ट्रेंड जुड़ गया “वर्क फ्रॉम होम”, यानी आप घर बैठे बैठे कहीं से भी अपने ऑफिस का काम कर सकते हैं। ठीक इसी तरह ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर भी जॉब पाने के चांसेस काफी बढ़ गए हैं।

ऑनलाइन जॉब का मतलब होता है कि कोई भी कंपनी आपको ऑनलाइन हायर करती है और आप वर्क फ्रॉम होम करके अच्छी अर्निंग कर सकते हैं। इसके लिए आपको कहीं आने जाने की जरूरत नहीं होती है।

जहां एक ओर जॉब पाने का यह आसान तरीका है तो वहीं इसमें फ्रॉड या यूं कहें की ऑनलाइन जॉब फ्रॉड होने के चांसेस भी काफी ज्यादा है। बीते कुछ समय में कई ऐसे केस आए, जहां लोगों को नौकरी देने के बहाने ठगा गया।

पहले किसी कस्टमर को एक हैंडसम अमाउंट वाली जॉब में हायर करने का लालच दिया जाता है फिर उनसे सिक्योरिटी फीस के नाम पर पैसे लिए जाते हैं।

कई बार तो कस्टमर अपनी बैंक डिटेल्स और फोन की ओटीपी भी शेयर करके जॉब पाने के चक्कर में ठगी या online job fraud या online job scam के शिकार हो जाते हैं।

Contents

ऑनलाइन जॉब फ्रॉड के तरीके | Types of Fake Job Scam

जैसे-जैसे हम digitalization की तरफ बढ़ रहे हैं। वैसे-वैसे Cyber Crime या Online frauds भी बढ़ते जा रहे हैं।

आपको बता दें कि ऑनलाइन जॉब में भी अलग अलग तरीके से फ्रॉड किया जाता है। आइए जानते हैं कि वह कौन-कौन से तरीके होते हैं जिनसे लोगों को नौकरी देने के नाम पर बेवकूफ बनाया जाता है

1.) ईमेल भेजकर नौकरी की बात करना

कई बार हम नौकरियों के ऐड देखकर किसी भी ऐप में या किसी वेबसाइट पर रजिस्टर कर देते हैं और रजिस्ट्रेशन ने सबसे पहले नाम मोबाइल नंबर और ईमेल एड्रेस ही मांगा जाता है।

बाद में ईमेल पर मैसेज आने शुरू हो जाते है कि xyz कम्पनी में मैनेजर की पोस्ट के लिए आप तुरन्त फॉर्म भरे या कांटेक्ट करें। उसके बाद आपसे ई-मेल पर पैसे मांगे जाते हैं जॉब को कंफर्म करने के लिए।

2.) कॉल करके Job के फायदे गिनाना

उसके बाद आपको बार बार कॉल किया जाता है और जॉब से रिलेटेड जानकारी दी जाती है। आपको हैंडसम अमाउंट की सैलरी बताई जाती है, रहना खाना पीना सब कंपनी के तरफ से होगा।

ऐसी बातें करके आप को बहलाने की कोशिश की जाती है और कई बार लोग नौकरी पाने के चक्कर में लालच में आकर स्कैमर को पैसे भेज देते हैं और ठगी के शिकार हो जाते हैं।

3.) Consultancy Office से नौकरी की गॉरन्टी देना

फ्रॉड करने वाले आप को फसाने के लिए नौकरी की गारंटी तक दे डालते हैं, जिसमें आपको फर्जी पेपर दिखाए जाते हैं और कंपनी का बड़ा नाम होने का दावा किया जाता है।

यहां तक कि कई बार फेक ऑफिस खोल कर लोगों को फंसाने की कोशिश की जाती है। कई बार ट्रेनिंग और स्किल डेवलपमेंट के नाम पर भी जरूरतमंदों से पैसे ऐंठ लिए जाते हैं.

4.) वेबसाइट के माध्यम से scam करना

कई बार वेबसाइट पर फेक वैकेंसी निकाली जाती है फॉर्म भरवाया जाता है और आपको भरोसा दिलवाया जाता है कि आपको नौकरी मिल जाएगी लेकिन काम करा लेने के बाद पैसा नहीं मिलता।

अक्सर इस निशाने पर छोटे शहर के जरूरतमंद लोग आते हैं। रेलवे में या बैंक में जॉब के लिए फॉर्म भरवा कर पैसे लिए जाते हैं और उसके बाद स्कैमर रफूचक्कर हो जाता है। लोग नौकरी पाने के लिए फॉर्म भर भी देते हैं।

5.) सगे-सम्बन्धियों के द्वारा जॉब की जानकारी

इस तरह के स्कैमर्स पहले कोई जगह सुनते हैं ऑफिस बनाते हैं और आसपास के लोगों को छोटी-मोटी नौकरिया दिलाते हैं।

जब एक बार उनकी जगह पक्की हो जाती है और जिसे उन्होंने नौकरी दिलाई है वह खुद ही सबको जाकर बताता है कि इस एजेंसी से मुझे नौकरी मिल गई तो बाकी लोग भी स्कैमर्स के संपर्क में आने लगते हैं और यहां से जालसाजी का काम शुरू हो जाता है।

स्कैम करने वाला बड़ी नौकरी दिलाने से पहले पैसों की मांग करता है, विदेश भेजने की बात करता है, और जब कई लोगों से पैसे दे देते हैं, तब वह सबके पैसे लेकर रफूचक्कर हो जाता है। इस प्रकार के जो स्कैम होते है वे चिट-फण्ड घोटालों और कंसल्टेंसी जैसे ही होते हैं।

6.) न्यूज़पेपर में फेंक वैकेंसी के लिए एडवर्टाइजमेंट देना

सभी न्यूज़पेपर में जॉब के लिए एक अलग से कॉलम बनाई जाती है, जहां लोग अपनी जरूरत के हिसाब से एडवर्टाइजमेंट देते हैं। चूंकि यह न्यूज़ पेपर में लिखा होता है इसीलिए कोई इसकी जांच नहीं करता।

स्कैमर्स इस बात का फायदा उठाते हैं। न्यूज़पेपर में वैकेंसी से रिलेटेड ऐड छपवाते हैं और नौकरी की जरूरत वाले लोगों को फंसाते हैं।

उन्हें पासपोर्ट और वीजा बनवाने के नाम पर उनसे अच्छी खासी रकम ऐंठ लेते हैं, कई बार बड़े शहरों में नौकरी दिलाने के नाम पर भी पैसे की ठगी हो जाती है.

7.) कैंपस प्लेसमेंट के नाम पर ठगी

कैंपस प्लेसमेंट के नाम पर ज्यादातर स्टूडेंट्स को लूटा जाता है। कॉलेज में कई सारी कंपनियां आती हैं और स्टूडेंट को वादा करती हैं कि उन्हें नौकरी मिलेगी।

इसी प्लेसमेंट के दौरान कई बार स्कैमर कंपनी का कर्मचारी बनकर आता है और बच्चों को भरोसा दिलाता है कि कंपनी में उन्हें नौकरी दे दी जाएगी और इसके बदले उनसे जल्दी जल्दी फीस जमा करने को बोला जाता है। कई बार स्टूडेंट जो समझदार नहीं होते हैं वे पैसे जमा करके ठगी का शिकार हो जाते हैं.

स्कैमर्स को आपके डेटा की जानकारी कैसे मिलती है

आर्टिकल का पहला पार्ट पढ़कर आपको लग रहा होगा कि आखिर ये स्कैमर्स अपने शिकार तक पहुंचते कैसे हैं। इन्हें कैसे पता लगता है कि किसी नौकरी की जरूरत है और किसे नहीं है। तो आइए हम आपको बताते हैं-

1.) जॉब की वेबसाइट से data buy करके

जब कोई व्यक्ति नौकरी की तलाश में होता है तो वह सबसे पहले अपना रिज्यूम नौकरी से जुड़ी हुई वेबसाइट पर अपलोड करता है।

यह वेबसाइट व्यक्ति के डाटा को नौकरी देने वाली कंपनियों को पैसे लेकर उन्हे दे देती है, जिससे वेबसाइट की कमाई हो जाती है और कंपनी भी अपनी जरूरत के हिसाब से Employee को चुन पाती है।

कम्पनी और वेबसाइट दोनो ही इससे फायदा उठाते हैं। अब इसमें प्रॉब्लम यह हो जाती है कि जॉब की वेबसाइट यह जांच नहीं करती है कि कौन सी कंपनी उनसे डाटा ले रही है।

कभी-कभी कम्पनी के रूप में कुछ स्कैमर्स डेटा खरीद लेते है जिसमें नौकरी की इच्छा रखने वाले व्यक्ति की निजी जानकारी जैसे- नाम , पता , योग्यता , मोबाइल नंबर , email – id होती है।

इन्ही जानकारी का इस्तेमाल स्कैमर लोगो से कांटेक्ट करने में करता है और उन्हें नौकरी का झांसा देकर उन्हें फसाया जाता है।

2.) नकली वेबसाइट बना कर

स्कैम करने वाले इतने चालाक होते हैं कि वे किसी भी ऑफिशियल वेबसाइट से मिलती-जुलती वेबसाइट बना लेते हैं और नकली वेबसाइट पर वैकेंसी निकाल देते हैं।

फॉर्म भरने वाले उसे असली वेबसाइट समझकर फॉर्म भरते हैं और स्कैम शिकार होते हैं. नकली जॉब्स को पब्लिश करने के लिए सोशल मीडिया का भी सहारा लिया जाता है.

स्कैम जॉब के ऑफर को पहचानने का तरीके

स्कैम जॉब असली है या नकली इस बात का पता लगाना बहुत आसान होता है। अगर आप थोड़ी सी समझदारी के साथ काम ले तो आप स्कैम से बच सकते है।

निम्न तरीकों से आप असली और फेंक जॉब के बारे में जान सकते है:-

  • अगर आपको कही से भी नौकरी के लिए SMS, e-mail या call आ रही है और आपने अप्लाई नही किया है तो यह निश्चित ही जॉब की एडवरटाइजिंग हो रही है और यह एक स्कैमिंग हो सकती है आपको सतर्क हो जाना चाहिए।

  • अगर कोई व्यक्ति आपसे मिलना नही चाहता और आपको call या sms करके जॉब देने का वादा कर रहा है और जॉब दिलाने के बदले पैसे की मांग कर रहा है तो निश्चित ही वह फ्रॉड है।

  • कई बार ये स्कैमर्स  नेटबैंकिंग, DD, UPI के यूज से आपको पैसा ट्रांसफर करने को बोलते है। इसका मतलब यह भी हो सकता है कि वे आपके बैंक खाते से पैसे उड़ाने की फिराक में है।इसीलिए इस तरह के कॉल्स से सावधान रहे और कभी भी अपनी बैंक डिटेल और ओटीपी किसी से शेयर न करे।

अब एक सवाल यह भी है कि आखिर इन जॉब स्कैम से कैसे बचें

सबसे बड़ा प्रश्न उठता है की लोग Fake Job Scam से कैसे बचे । इसके लिए कुछ आवश्यक बातों पर ध्यान देने की जरुरत है –

1.) किसी भी जॉब के लिए अप्लाई करने से पहले अच्छी तरह जांच पड़ताल कर लें और ऑफिशल वेबसाइट पर ही फॉर्म फिल अप करें, मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें।

2.) अगर जॉब के लिए भर्ती से रिलेटेड कोई भी इंफॉर्मेशन है तो सीधे उसकी रियल ऑर्गेनाइजेशन पर जाकर पता लगाएं।

किसी भी इंफॉर्मेशन के लिए आप डायरेक्ट कंपनी से कांटेक्ट करने की कोशिश करें। रेलवे और पुलिस भर्ती के नाम पर तो अक्सर स्टूडेंट्स को ठगा जाता है इससे सावधान रहें।

3.) अपने आप पर भरोसा रखें और अच्छी तरह जांच पड़ताल करने के बाद ही भर्ती प्रक्रिया को आगे ले जाएं यदि आप थोड़ा सा दिमाग इस्तेमाल करेंगे तो आप किसी बड़े स्कैम से बचे रहेंगे।

बातों में फंसाने के लिए स्कैमर आपकी क्षमता से ज्यादा सैलरी दिलवाने की बात करता है लालच में फंस जाते हैं और गलती कर बैठते हैं।

सभी को अपने अंदर की क्षमताओं का पता होता है। अगर कोई आपसे वैकेंसी के नाम पर ज्यादा पैसे मांग रहा है या फिर आपको आपकी योग्यता से ज्यादा पैसे दिलाने की बात कर रहा है तो आपको समझ जाना चाहिए कि यहां कुछ खराबी हो सकती है।

4.) असली जॉब पोर्टल में ढूंढे वेकेंसी:-

अगर आप सरकारी नौकरी के लिए सारी इनफार्मेशन एक जगह चाहते हैं तो आपको sarkariresult.com पर जाना चाहिए। यह एक जानी मानी वेबसाइट है वहां पर आपको वैकेंसी से लेकर एडमिट कार्ड और रिजल्ट तक सारा कुछ एक साथ मिल जाएगा।

5.) कभी भी नौकरी के लिए ज्वाइन करने से पहले किसी को भी पैसे ना दे। नौकरी दिलाने वाले के दबाव में बिल्कुल भी ना आपको धोखा दे सकता है, इस बात को हमेशा अपने दिमाग में रखें। वैसे तो कभी भी किसी भी नौकरी की जॉइनिंग में पैसा नहीं मांगा जाता है।

लेकिन फिर भी कोई थर्ड पार्टी है जो आपसे रकम की मांग करती है और आपको लग रहा है कि पैसे देने से आपकी नौकरी पक्की हो जाएगी तो भी उसको पहले पैसे ना दे जब तक आप खुद कन्फर्म ना हो जाए।

जॉब्स रिलेटेड फ्रॉड के लिए कंप्लेंट कहां करें

अगर आपको किसी भी फ्रॉड व्यक्ति की जानकारी होती है जो नौकरी के झांसे देकर पैसे लेता है और गायब हो जाता है तो आप इसके लिए तुरंत कंप्लेंट कर सकते हैं, कंप्लेन दो तरीके से की जा सकती है।

1. लोकल पुलिस से मदद ली जा सकती है

कभी भी आपको लगे कि इस जगह पर नौकरी के लिए फ्रॉड की जा रही है तो आप तुरंत इलाके की पुलिस से संपर्क करें और इस बारे में जानकारी देकर तुरंत शिकायत दर्ज करवाएं। अगर फ्रॉड से जुड़ा हुआ कोई सबूत या कोई गवाह आपके पास है तो उसे पुलिस को जरूर दें.

2.) साइबर सेल की मदद

अगर स्कैमिंग ऑनलाइन हो रही है कोई आपको मैसेज करके या कॉल करके आपसे आपके फोन की ओटीपी या बैंक संबंधी जानकारी मांग रहा है तो आप इसकी शिकायत साइबर सेल को कर सकते हैं।

साइबर सेल में शिकायत करने के लिए 2 तरीके होते हैं पहला उनको मेल लिखा जाए और मेल के माध्यम से सारी बातें बताई जाए या फिर साइबर सेल के ऑफिस जाकर उन्हें जानकारी दी जाए।

आप अपने साथ सबूत जरूर लेकर जाएं इससे आपको जल्दी मदद मिलेगी। Cyber Crime Portal India पर शिकायत दर्ज कर सकते हैं या फिर हेल्पलाइन नंबर – 1930 से मदद ले सकते हैं। पहले यह हेल्पलाइन नंबर –155260 था जिसे अब बदलकर 1930 कर दिया गया है। 

यह भी पढ़ें-:

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि अब तक आपको “ऑनलाइन जॉब फ्रॉड क्या है और इससे कैसे बचें?” के बारे में काफी सारी जानकारी मिल गई होगी और इससे स्वयं को कैसे बचाना है यह भी समझ में आ गया होगा।

बेरोजगारी की समस्या हमारे देश में चरम सीमा पर है। ऐसे में व्यक्ति का बहल जाना या किसी फ्रॉड के झांसे में आ जाना स्वाभाविक है।

यह स्कैमर्स ऐसे ही व्यक्तियों का फायदा उठाते हैं जो नौकरी को लेकर परेशान हैं। इस तरह के फ्रॉड से ने आपको बचा है और अपने आसपास के लोगों को भी जानकारी दें।

This Post Has One Comment

Leave a Reply