You are currently viewing DigiLocker क्या है और यह कैसे काम करता है? | What is Digilocker in Hindi- 2021
DigiLocker

DigiLocker क्या है और यह कैसे काम करता है? | What is Digilocker in Hindi- 2021

Digilocker app kya hai
DigiLocker App

वर्तमान केंद्र सरकार ने काफी सारे बेहतर काम किये है और उन्हीं में से एक काम ‘डिजिटल इंडिया अभियान’ को शुरू करना भी हैं। इंटरनेट और तकनीकी तेजी से आगे बढ़ रहे है और दुनिया डिजिटल हो रही हैं। पिछड़े से पिछड़ा देश भी इंटरनेट से जुड़ा हुआ हैं। जिओ के आने के बाद भारत मे भी जैसे एक प्रकार से इस क्षेत्र में क्रांति सी आयी हैं। जिओ से डिजिटल इंडिया अभियान को काफी मदद मिली हैं।

डिजिटल इंडिया अभियान के अंतगर्त काफी सारी कम्पनियो ने ग्रोथ प्राप्त की लेकिन साथ मे केंद्र सरकार ने भी कुछ ऐसी सुविधाये शुरू की जो वाकई में काफी लाभदायक हैं। ऐसी ही एक सुविधा DigiLocker भी हैं। हर समय सभी दस्तावेज अपने पास रखना सम्भव नही हो सकता लेकिन जरूरत का क्या हैं? वह तो कभी भी पड़ सकती हैं।

यही कारण हैं कि हमे एक ऐसे प्रबंधन की जरूरत थी जिससे हमारे सभी जरूरी दस्तावेजो को हम कभी भी तुरन्त एक्सेस कर सके। DigiLocker के रूप में सरकार ने हमे वही प्रबंधन दिया हैं। अगर आपको डिजिटल लॉकर के बारे में अब तक नही पता तो कोई बात नहीं! इस लेख में हम जानेंगे की ‘DigiLocker क्या है और यह कैसे काम करता हैं’! तो चलिये शुरू करते हैं।

DigiLocker क्या है? (What is DigiLocker)

अगर थोड़ी ऑफिसियल या फिर टेक्निकल भाषा मे बात की जाए तो DigitalLocker एक भारतीय डिजिटलाइजेशन ऑनलाइन सर्विस हैं जो इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के द्वारा डिजिटल इंडिया अभियान के तहत शुरू की गई हैं। मंत्रालय के द्वारा शुरू की गई इस सुविधा के माध्यम से कोई भी व्यक्ति अपने सभी लिंक्ड दस्तावेजो को एक्सेस कर सकता हैं फिर चाहे बात Driving License की हो या Aadhar Card की।

डिजिलाॅकर एक Cloud आधारित सर्विस हैं जहाँ देश मे रहने वाला कोई भी स्थायी नागरिक अपने आवश्यक दस्तावेज वर्चुअल रूप से सुरक्षित करके रख सकता है। यह दस्तावेज संबंधित सरकारी संस्थाओं से सीधे प्राप्त किये जा सकते है और क्लाउड पर ही इनकी कॉपी बनाकर भी रखी जा सकती हैं।

काफी हुई टेक्निकल भाषा, चलिये अब थोड़ी सरल भाषा मे DigiLocker को समझते है। क्लाउड सर्विसेज के बारे में तो आप सब जानते ही हैं। इंटरनेट पर जितना भी डेटा होता हैं वह क्लाउड सर्विसेज की ही बदौलत हैं। Facebook और YouTube जैसे बड़े बड़े प्लेटफार्म भी क्लाउड स्टोरेज का इस्तेमाल करती हैं। Google Drive इसका एक बेहतरीन उदहारण हैं। डिजिलाॅकर भी गूगल ड्राइव की तरह ही एक क्लाउड सर्विस हैं लेकिन यह थोड़ा अधिक उपयोगी हैं।

इस सर्विस को खुद भारत की सरकार के द्वारा शुरू किया गया है। डिजिलाॅकर में आप अपने डाक्यूमेंट्स को प्राप्त कर सकते हो और उनके डिजिटल रूप को संभाल कर रख सकते हो। यह डाक्यूमेंट्स कुछ भी हो सकते हैं जैसे कि आपका Driving License, Marksheet और Vehicle Registration Document आदि।

अगर आपने Google Drive या फिर कोई और क्लाउड आधारित सिक्योरिटी स्टोरेज का प्रयोग किया है तो शायद आपको याद होगा कि उन्हें कोई भी व्यक्ति आसानी से उपयोग कर सकता है लेकिन डिजिलॉकर के मामले में ऐसी कोई बात नहीं हैं। डिजिलाॅकर को उपयोग करने के लिए हमे आधार कार्ड चाहिए होता हैं। Aadhar के माध्यम से ही हम डिजिलाॅकर पर अकाउंट बना पाते हैं और उस अकाउंट को वेरीफाई कर पाते हैं।

डिजिलाॅकर को पहली बार करीब 5 साल पहले 2020 के आखिरी महिने अर्थात दिसम्बर में रिलीज किया गया था। डिजिलाॅकर को लॉन्च करने के पीछे केंद्र सरकार का उद्देश्य एक ऐसा प्रबंध नागरिकों को प्रदान करना है जहां उनके सभी दस्तावेज आसानी से उनके स्मार्टफोन में सुरक्षित रह सके। सरकार ने DigiLocker के लिए Android और IOS दोनों एप्प लॉन्च किए हैं।

DigiLocker कैसे काम करता हैं?

DigiLocker सरकार के द्वारा चलाई जा रही एक आधिकारिक App हैं। इस एप्प का उपयोग करने के लिये आपको App में Sign Up करना होगा। डिजिलॉकर को जब लॉन्च किया गया था तब इसमे यूजर्स को 100mb का क्लाउड स्पेस दिया गया था जिसे बाद में बढाकर 1GB कर दिया गया हैं। डिजिलाॅकर का उपयोग अन्य सामान्य एप्प्स की तरह नही किया जा सकता।

इस पर अकाउंट बनाने के लिए आपको अपने आधार नम्बर के साथ App का Registration करना होता है जिसके लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर OTP भेजकर वेरिफिकेशन किया जाता हैं। डिजिलाॅकर में केवल वर्चुअल डाक्यूमेंट्स को ही सेव किया जा सकता है। DigiLocker में मौजूद सभी डॉक्यूमेंट अधिकतर जगह मान्य होते हैं।

अगर सरल भाषा मे डिजिलाॅकर के काम करने की प्रणाली को समझा जाए तो यह एक Cloud Storage App हैं लेकिन इसमे केवल Documents को ही सेव किया जा सकता हैं। अगर आप कोई नया Documents बनवाते हो तो उसे Save करने के लिए भी आप डिजिलाॅकर का इस्तेमाल कर सकते हैं। DigiLocker App की बेहतरीन और सुरक्षित सिक्योरिटी प्रोसेस कर चलते App में मौजूद आपके डाक्यूमेंट्स को आपके अलावा कोई अन्य व्यक्ति उपयोग नही कर पाता।

अगर आप कोई नया Document जैसे कि Driving License आदि भी बनवाते हो तो उसका वर्चुअल रूप आपके डीजीलॉकर में भेज दिया जाता है। डिजिलाॅकर में मौजूद वर्चुअल डाक्यूमेंट्स का फिजिकल डॉक्यूमेंट की तरह ही अपने वेरिफिकेशन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता हैं।

DigiLocker पर अकाउंट कैसे बनाये? ( How to create account in DigiLocker)

डिजिलॉकर पर अकाउंट बनाना पर इसका उपयोग करना दोनों ही आसान है। डिजिलॉकर पर अकाउंट बनाने के लिए आपको निम्न स्टेप्स फोलो करने होंगे:

  • सबसे पहले Play Store या App Store से ‘DigiLocker’ एप्प डाउनलोड करे।
  • एप्प को ओपन करते ही आपको Sign Up का बटन दिखाई देगा।
  • इसके बाद अगले पेज पर आपको अपना Mobile नम्बर एंटर करना होगा और Continue के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब अगले पेज पर आपको एंटर किये गए मोबाइल नम्बर पर आए OTP को डालना होगा और Verify पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको एक स्ट्रांग पासवर्ड सेट करना होगा और Sign Up के बटन पर क्लिक करना होगा।

इस तरह से आप DigiLocker पर आसानी से अकाउंट बना पाएंगे।

उम्मीद है DigiLocker पर अधरी हमारा यह लेख आपको पसन्द आया होगा। इस App को डिजिटल इंडिया अभियान के तहत देश के डिजिटलाइजेशन में एक छोटे से बदलाव के रूप में लाया गया हैं, इसका उपयोग हम सभी को करना चाहिए। अगर आपके दिमाग मे DigiLocker से जुड़ा हुआ कोई और सवाल हैं तो हमे कमेंट करके जरूर बताएं।

 

Leave a Reply